narayani

Kuch anubhav... Kuch vichar...

40 Posts

13533 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 4337 postid : 93

याद रखो उसे

Posted On: 13 Jun, 2011 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

याद रखो उसे जो
भीनी खुशबु सा महका दे तुम्हे
कडवी गंध का एहसास तो ,
जीवन रोज ही करवाता है.
यादो में वो बसे रहे जो ,
निश्छल प्यार करते है तुम्हे ,
स्वार्थी रिश्तो की झलक तो तुम्हे
जीवन रोज ही दिखलाता है .
याद रखो ईश्वर की उस कृतज्ञता को ,
जो तुम्हे जन्म देता है
उम्र खत्म होने का एहसास तो ,
जीवन रोज ही करवाता है .
याद रखो उस परम देव ईश्वर को ,
जो हर समय तुम्हारे साथ होता है
सब कुछ छुटने का एहसास तो
जीवन रोज ही करवाता है
याद रखो देश के लिए मर मिटने को
व्यर्थ चली जाये न जिन्दगी
जीवन रोज याद करवाता है .

| NEXT



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

11 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

narayani के द्वारा
June 17, 2011

नमस्कार सचिन जी देश याद नही तो फिर यह देह किस काम की .बहुत सकारात्मक सोच आपकी . आपको रचना पसंद आई बहुत बहुत धन्यवाद नारायणी

allrounder के द्वारा
June 14, 2011

नमस्कार नारायणी जी, बहुत ही अच्छी रचना आपकी ! उसको भूलने वाले को वेह एक क्षण मैं सबकुछ भुला सकता है ! बधाई !

    Scout के द्वारा
    July 11, 2016

    Listened to a friend have a diosssciun about house prices the other day. Long time real estate bull, who has finally admitted that yes prices have gone down, but people should still buy,and not worry about prices. Because as long as you stay for a long time, it really does not matter what price you pay for a house.This from a person who on paper at least should no better than making such a statement. I of course remained silent.

Alka Gupta के द्वारा
June 14, 2011

नारायणी जी , आज की भौतिक चकाचौंधव व जीवन की आपाधापी में इंसान सब कुछ ही भूलता जा रहा है लेकिन जो देश पर अपना सर्वस्व बलिदान करते हैं वे मरकर भी अमर हो जाते हैं सदैव याद किये जाते हैं बहुत ही बढ़िया रचना के लिए बधाई !

    narayani के द्वारा
    June 17, 2011

    नमस्कार अलका जी, महान बलिदानियो की वजह से हम अच्छी जिंदगी जी पा रहे हैं, यह हमने नहीं भूलना चाहिए. आपको रचना पसंद आई. आपका बहुत बहुत धन्यवाद नारायणी

Rajkamal Sharma के द्वारा
June 14, 2011

आज आपने नाम को सार्थक कर दिया है आपकी पिछली पोस्ट में लय और ताल की कमी थी पहले इस लिए नहीं लिखा थाकी कहीं दूसरे उस के परभाव में न आ जाये धन्यवाद

    narayani के द्वारा
    June 17, 2011

    नमस्कार राज कमल जी आपको रचना पसंद आई ,आपका बहुत आभार ,सच है कभी कभी मन में विचार बहुत अच्छे होते है ,पर शब्द रूप में कागज पर सही ढंग से बयाँ नही हो पाते,ये मेरा अपने लिए अनुभव है ,अच्छा लगा आपने सच कहा आगे और अच्छी कोशिश करूंगी . धन्यवाद नारायणी

    Kert के द्वारा
    July 11, 2016

    well congrats on the full beer. its a big acensplimhmcot. it ranks up there with having darryl actually read your blog. another great accomplishment is learning that Ireland isn’t so much a city as it is a country. honestly tho, what am i to expect?

Rajkamal Sharma के द्वारा
June 13, 2011

aadrniy नारायणी जी …सादर अभिवादन ! आपकी यह पोस्ट कहाँ गई ?

    narayani के द्वारा
    June 17, 2011

    नमस्कार राज कमल जी शायद कोई तकनिकी वजह होगी जो , मुझे समझ नही आई धन्यवाद नारायणी

    Lynda के द्वारा
    July 11, 2016

    For the price CPW and O2 are charging for the N4 on a 2 year 1Gnot/Bmh contract, I can buy the phone outright and fund my SIM-only deal for almost 4 years.


topic of the week



latest from jagran